WELCOME TO SikhoIndia.IN >>Dear All, Wish U And Your Family A Very Happy Fastival<<< TODAY’S BEST OFFERS DEALS COUPON CODE & DEAL OF THE DAY .

RO Pani Ke Nuksan: RO या पैक्ड बोतल का पानी तो हो जाईये सावधान

No Comments

RO Pani Ke Nuksan: RO या पैक्ड बोतल का पानी तो हो जाईये सावधान

RO Pani Ke Nuksan: RO या पैक्ड बोतल का पानी तो हो जाईये सावधान
आपको यह जानकार आश्चर्य होगा की RO और पैक्ड बोतल का पानी आप जितना सुरक्षित समझते हैं उतना है नहीं । ऐसा इसलिए है क्योंकि पानी में जिन मिनरल्स का होना आवश्यक है वो इन दोनों में नहीं पाए जाते । पानी को मीठा रखने के लिए इसमें टीडीएस की मात्रा बहुत कम रखी जाती है । टीडीएस पानी कि गुणवत्ता मापने का मापदंड है , जिससे ये पता चलता हैं कि पानी में कितने प्रतिशत मिनरल्स है।

अगर टीडीएस 250-350 के बीच में होता है तो इसे सर्वोत्तम माना जाता है। 150 से कम टीडीएस वाले पानी में आवश्यक मिनरल्स की मात्रा बहुत कम हो जाती है। पानी में टीडीएस कि मात्रा कम होने पर यह हार्ट पर बुरा असर डालता है। इसके अलावा इससे बॉडी के हार्मोन्स पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है । साथ ही यह पेट से जुडी बीमारियों को भी जन्म देता है ।
लोग अपने घर में लगे RO में टीडीएस कि मात्रा इसलिए रखते हैं ताकि पानी मीठा लगे और बाजार में मिलने वाले पैक्ड पानी को बोतल में पानी भरने से पहले रिवर ऑसमोसिस प्रोसेस के जरिए फिल्टर किया जाता है। जिससे उसमें मौजूद मिनरल्स निकल जाते हैं। मिनरल्स हमारे शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है क्योंकि इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन मौजूद होते हैं। जो हमारी हड्डियों, पेट और दिमाग के लिए जरूरी हैं ।
इन बातों का रखें ध्यान
  • अगर आप RO का यूज करते हैं तो उसका टीडीएस 200-350 के बीच में ही रखवाएं।
  • पैक्ड बोतल का पानी कम से कम पिएं

chitika

loading...
loading...